Wednesday, February 10, 2010

किसी ने हमसे प्यार किया हो ऐसा पहली बार हुआ है

देर से ही पर खुदा मेहरबां हम पे बहुत  इस बार हुआ है
 दुनिया में जो सब से हसी है उसको हमसे प्यार हुआ है

 तानो या उल्हानो से तो झोली अपनी भरी रही
 किसी ने उस में प्यार भरा हो ऐसा पहली बार हुआ है

जख्म दिए हो किसी ने हमको ऐसा सारी उम्र हुआ है
 पर मरहम ले कोई घर आया ऐसा पहली बार हुआ है

सपनों को बनते और टूटते कौनसी  रात नही देखा
अब जाकर अपना सपना मुश्किल से साकार हुआ है

पास में रहकर भी मेरे दिल से सब  अक्सर दूर रहे
 दूर में रह कर दिल के पास हो ऐसा पहली वार हुआ है

 किसी ने हम को वुक्के दिए हों ऐसा अक्सर ही होता था
 पर हमने किसी को फूल दिया ऐसा पहली बार हुआ है

हमने किसी से प्यार किया शायद पहले भी ये हुआ
पर  हमसे किसीने प्यार किया हो ऐसा पहली बार हुआ है

1 comment:

हृदय पुष्प said...

"जख्म दिए हो किसी ने हमको ऐसा सारी उम्र हुआ है
पर मरहम लेकर कोई घर आया ऐसा पहली बार हुआ है"
वाह वाह - सीधे दिल में उतरती शानदार ग़ज़ल के लिए साभार धन्यवाद्